SUBMIT YOUR "GUEST POST" in www.devicepoint.net Blog

Motivational Story / Motivation Thought / मोटिवेशन गोल 2015


सफलता प्राप्ति के लक्ष्य निर्धारित करना अत्यावश्यक (Goal setting is must to get success – Motivational article in hindi)

प्रत्येक व्यक्ति कुछ न कुछ चाहता है। कोई धन कमाना चाहता है तो कोई नाम कमाना चाहता है; कोई इंजीनियर बनना चाहता है तो कोई डॉक्टर बनना चाहता है।

और अधिकतर लोग यह भी उम्मीद करते हैं कि वे जो चाहते हैं वह हो जाए, याने कि अपने आप हो जाए, उसे कुछ करना ना पड़े।

किन्तु मित्रों, अपने आप कुछ भी नहीं होता। अपनी चाहत को सफल (success) बनाने के लिए हमें अथक परिश्रम करना ही पड़ता है।




सबसे पहली बात तो यह है कि यदि किसी कार्य में हमें सफलता प्राप्त करनी है तो उसके लिए हमें लक्ष्य निर्धारित (goals setting) भी करने होंगे। हमारे द्वारा निर्धारिv लक्ष्य ही सफलता (success) के मार्ग में हमारा मार्गदर्शन करके हमें सफल बनायेंगे। लक्ष्य निर्धारण (goals setting) वह प्रक्रिया है जो कि किसी वस्तु की कामना करने की पहली सीढ़ी से आरम्भ होकर अपनी कामना को प्राप्त कर लेने की आखरी सीढ़ी पर समाप्त होती है। इन पहली और आखरी सीढ़ी के बीच बहुत सारी सीढ़ियाँ आती हैं जिन पर पूरे लगन, आत्मविश्वास और कठिन परिश्रम के साथ चढ़ना पड़ता है। ऐसा कभी हो ही नहीं सकता कि बीच की सीढ़ियों पर कदम रखे बगैर आप पहली सीढ़ी से आखरी सीढ़ी पर पहुँच जाएँ।


हमारे द्वारा निर्धारित लक्ष्य हमें बताते हैं कि हमें सफलता मिल रही कि नहीं। अब आप पूछेंगे कि कैसे? तो मान लीजिए कि मैं लेखन के जरिये धनार्जन करता हूँ। एक साधारण लेख के लिए रु.200 मिलते हैं जबकि एक उत्तम लेख के लिए रु.500। मैं महीने में 50 साधारण लेख लिखकर रु.10000 कमा लेता हूँ। अब मैं इस कमाई को बढ़ाना चाहता हूँ। इसके लिए मेरे दो लक्ष्य होंगे – पहला मैं महीने में 50 से अधिक लेख लिखूँ और दूसरा मैं अपने लेखों का स्तर साधारण से उत्तम करूँ। अब अपने इन लक्ष्यों को ध्यान में रखकर मैं लेखन कार्य करता हूँ और अगले माह मैं रु.15000 कमा लेता हूँ तो इसका अर्थ हुआ कि मुझे सफलता मिल रही है।

जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए जितना लक्ष्य निर्धारित करना जरूरी है उतना ही अपने लक्ष्य को प्राप्त करना भी जिसके लिए भरपूर लगन, आत्मविश्वास तथा कठिन परिश्रम की आवश्यकता होती है।

Please Share Must .....Writer    TARUN KUMAR SAHU

Post a Comment